बड़ी खबर: सत्ता पक्ष को जलवा दिखाने वाले धर्मेंद्र यादव की संपति होगी जब्त, जिलाधिकारी ने जारी किया आदेश

Share & Enjoy !!

औरैया: भाग्यनगर सीट से सपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य व समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र यादव की संपत्ति नये आदेशानुसार जब्त की जायेगी। जनपद औरैया के जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने गैंगस्टर के आरोपी धर्मेंद्र यादव की संपति जब्त करने का आदेश जारी कर दिया है। आपको बता दें कि धर्मेंद्र यादव के नाम पर पहले से ही जनपद के कई थानों में विभिन्न धाराओं में मुकदमें दर्ज है जिनको देखते हुए उन्हें गैंगस्टर एक्ट के तहत अपराधी घोषित किया जा चुका है। जिलाधिकारी ने धर्मेंद्र यादव के अपराधिक रिकॉर्ड को देखते हुए यह आदेश जारी किया है।

इन सब की होगी कुर्की, शासन से कड़े दिशानिर्देश

जनपद औरैया के जिलाधिकारी द्वारा जारी आदेश में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि धर्मेंद्र यादव अपने साथियों के साथ एक गिरोह का संचालन करते थे,  जिसमें धर्मेंद्र यादव कथित गिरोह के गैंग लीडर थे। जानकारी के अनुसार उनके पास अपराध को छोड़कर कोई दूसरा ऐसा व्यवसाय नहीं रहा है जिससे ऐसी संपत्ति बनाई जा सके। इसलिए अपराध के रास्ते जुटाई गई संपत्ति जब्त करने का फरमान जिलाधिकारी द्वारा जारी कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार धर्मेन्द्र यादव  के नाम पर दिबियापुर सहायल रोड पर 2 मकान हैं जिनकी अनुमानित कीमत 84 लाख रुपए , वहीं धर्मेंद्र यादव के नाम पर दो मोटरसाइकिल हैं जिनकी अनुमानित कीमत 70 हजार रुपए है, धर्मेंद्र यादव की माता के नाम पर खरीदी गई जमीन जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 6 लाख रुपए से अधिक बताई जा रही है। इस जमीन को भी जब्त करने का आदेश दिया जा चुका है। वहीं उनके पिता के नाम पर एक ट्रक है,जिसकी अनुमानित कीमत 2 लाख रुपए है। इस ट्रक को भी जब्त  करने का आदेश दिया गया है।

कोरोनाकाल में सत्ता पक्ष को दिखा चुकें है अपना जलवा

कोरोनाकाल में भारी जुलुस निकालकर गैंगस्टर आरोपी धर्मेन्द्र यादव दिखा चुके है सत्ता पक्ष को अपना जलवा। जमानत पर जेल से बाहर निकलने पर धर्मेन्द्र यादव ने कोरोनाकाल में सैंकड़ों वाहनों के साथ भारी संख्या में जुलुस निकाला था इसी के चलते महामारी एक्ट के तहत कोविड गाइडलाइन्स का पालन न करने के जुर्म में इटावा पुलिस ने धर्मेन्द्र यादव को गिरफ्तार किया था। फिलहाल अभी धर्मेन्द्र यादव जमानत पर जेल से बाहर हैं।


Share & Enjoy !!