MS Dhoni Birthday : 40 वर्ष के हुए महेंद्र सिंह धोनी, जानिए महेंद्र सिंह धोनी से संबंधित कुछ रोचक बातें

Share & Enjoy !!

MS Dhoni Birthday : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, आज अपना 40वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। वर्ल्ड क्रिकेट में ‘कैप्टन कूल’ के नाम से मशहूर धोनी भारत के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक हैं। धोनी (Mahendra Singh Dhoni) का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची में हुआ था। दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी में कई कीर्तिमान स्थापित किए। धोनी ने 15 अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। हालांकि वह आईपीएल में अब भी चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करते हुए मैदान में नजर आएंगे।

ICC की तीनों ट्रॉफी जीतने वाले इकलौते कप्तान हैं धोनी:

रांची के राजकुमार सुपरकिंग्स महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी में आईसीसी के तीनों बड़े टूर्नामेंट टी20 वर्ल्ड कप, वनडे वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी जीते हैं। वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के एकमात्र कप्तान हैं। धोनी ने भारत की ओर से 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी-20 इंटरनैशनल मैच खेले हैं। माही ने टेस्ट में 4,876 रन बनाए जबकि वनडे में कुल 10,773 रन जुटाए। टी20 में कैप्टन कूल के नाम 1,617 रन दर्ज है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक स्टंपिंग धोनी के नाम:

माही के नाम इंटरनैशनल क्रिकेट में सर्वाधिक स्टंपिंग का रिकॉर्ड है। उन्होंने 538 इंटरनैशनल मैचों में कुल 195 स्टंपिंग किए हैं। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर श्रीलंकाई बल्लेबाज कुमार संगकारा(139) है। वहीं श्रीलंका के पूर्व विकेटकीपर रोमेश कालूवितरणा के नाम भी 101 स्टंपिंग दर्ज है।

बतौर विकेटकीपर ODI मैच में बनाया सर्वोच्च निजी स्कोर:

धोनी के नाम वनडे इंटरनैशनल क्रिकेट में बतौर विकेटकीपर सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड दर्ज है। माही ने साल 2005 में श्रीलंका के खिलाफ जयपुर में नाबाद 183 रन की पारी खेली थी। इस दौरान धोनी ने 15 चौके और 5 छक्के उड़ाए थे। यह स्कोर धोनी ने 299 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए बनाया था। आज तक धोनी का वनडे में ये बतौर विकेटकीपर सर्वाधिक रन का निजी स्कोर बरकरार है।

रिकॉर्ड दो बार चुने गए आईसीसी प्लेयर ऑफ द ईयर:

IPL में थाला के नाम से फेमस माही भाई आईसीसी वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर दो बार चुने जा चुके हैं। धोनी ने 2008 और 2009 में लगातार दो बार इस खिताब को अपने नाम किया। कैप्टन कूल दो बार यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी हैं।

बाइक के शौकीन हैं माही :

धोनी बाइक के बहुत शौकीन हैं। धोनी का रांची में एक फार्म हाउस है, जिसमें एक मोटरसाइकिल के लिए अलग गैरेज है। उसमें बाइक्स की भरमार है। धोनी का ये जुनून कॉलेज के समय से ही है। उस समय माही के पास एक राजदूत हुआ करती थी। लेकिन इस समय धोनी के पास बहुत सारी लग्जरी बाइक्स है। खाली समय में धोनी अपनी बाइक्स को लेकर रांची की सड़कों पर दौड़ाते हुए मनोरंजन करते हुए नजर आते हैं।

MS धोनी का ट्रेड मार्क है हेलिकॉप्टर शॉट:

माही का ट्रेड मार्क हेलिकॉप्टर शॉट है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई बार इस शॉट को खेलकर गेंद को बाउंड्री के पार पंहुचाया है। उनके फैन्स अभी भी ipl में धोनी के इस शॉट को देखने ले लिए आते हैं। धोनी ने इस शॉट को झारखंड के पूर्व क्रिकेटर और दोस्त संतोष लाल से सीखा है। धोनी के नाम इंटरनैशनल क्रिकेट में बतौर कप्तान सर्वाधिक छक्का जड़ने का भी रिकॉर्ड है। यंहा तक कि बतौर कप्तान धोनी ने सबसे ज्यादा इंटरनैशनल मैच भी खेले हैं।

महेंद्र सिंह धोनी का पहला प्यार था फुटबॉल:

माही टेस्ट क्रिकेट में चार हजार से अधिक रन बनाने के साथ साथ विकेट के पीछे 200 से अधिक शिकार करने वाले भारत के पहले विकेटकीपर हैं। धोनी का पहला प्यार फुटबॉल के साथ जुड़ा था। धोनी भाई की रूचि फुटबॉल के साथ साथ बैडमिंटन में भी रही है। उन्होंने जिला और क्लब स्तर पर फुटबॉल और बैडमिंटन का लुत्फ उठाया है।

थाला( धोनी) ने चेन्नई सुपरकिंग्स को दिलाई तीन ट्रॉफी:

धोनी ने बतौर कप्तान 2 वनडे वर्ल्ड कप और 5 टी20 वर्ल्ड कप खेले। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में टी20 विश्व कप, 2011 में वनडे विश्व कप और 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रोफी जीती। माही की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स ने 3 बार ट्रॉफी अपने नाम की है। आईपीएल में मुंबई इंडियन्स के साथ साथ चेन्नई सुपरकिंग्स भी सफलतम टीमों में शामिल है।

महेंद्र सिंह धोनी कर्नल का मानद सम्मान पाने वाले दूसरे भारतीय क्रिकेटर :

धोनी को सेना ने लेफ्टिनेंट कर्नल का मानद सम्‍मान दिया हुआ है। माही इस सम्मान को पाने वाले दिग्गज ऑलराउंडर कपिल देव के बाद दूसरे क्रिकेटर हैं। इंडियन टेरिटोरियल आर्मी ने माही को साल 2011 में लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि से सम्मानित किया था।


Share & Enjoy !!

Leave a Reply

Your email address will not be published.