ताजा खबर

Lucknow: असम में देश के विकास इंजन बनने की है ताकत, बेहतरी के लिये बदलाव है जरुरी

लखनऊ के आशियाना स्थित केलाश ऑडिटोरियम मे ग्लोबल नार्थ ईस्ट सस्टेनेबिलिटी इण्डिया समिट का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्यतया से असम राज्य की खूबसूरती एव वहाँ की बेहतरी पर विस्तृत चर्चा हुई। वहीं बात करें अगर असम के बारें में तो पुराने समय मे प्राग्ज्योतिषपुर एवं पूर्व की ज्योति के नाम से भी विख्यात है। इसके साथ ही असम राज्य वनों , नदियो, झरनो,और अनेकों पर्वतमालाओं से भरा है।

असम की इस सुन्दरता को इसे संवारने का कार्य मौजूदा केंद्र सरकार कर रही है। वहीं केंद्र सरकार द्वारा अभी हाल ही मे असम मे विकास के लिये धुबरी फूलबारी,बहुस्तरीय केन्सर अस्पताल ,एवं अम्रत सरोबर जेसी कई सौगातें दी है जो असम के विकास मे प्रमुख भूमिका निभाएगी। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के तौर पर प्रवीण अवस्थी ( रिप्रेजेंटेटिव ,केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ) उपस्थित रहे।

वही इस दौरान प्रवीण अवस्थी ने अपने सम्बोधन में कहा की असम की जनजातीय संस्कृति, हस्तशिल्प भाषा ,खानपान कला यह सभी हमारे देश की अमूल्य धरोहर है जो समूचे भारत देश को एकता में बाँधे हुये है। कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्रगान एवं गणेश बन्दना से हुआ जिसके कलाकारों ने अपने कला का प्रदर्शन किया तथा मंच का संचालन आरती भट्ट द्वारा किया गया।

Show More
Back to top button