BSP नेशनल कोऑर्डिनेटर आकाश ने भरा BHU के युवाओं में जोश, बाबासाहेब को किया याद

Share & Enjoy !!

बनारस के काशी हिंदू विश्वविद्यालय में आयोजित बाबा साहेब की अमर कृति जाति के विनाश के 86 वें प्रकाशन के कार्यक्रम में BSP नेशनल कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुये। वहीं इस कार्यक्रम के दौरान वह BHU के कला संकाय में स्थित उस प्राँगण में भी गये, जहाँ बाबासाहेब ने 25 नवम्बर सन 1956 में छात्रों और शिक्षकों को संबोधित करके उनमें नयी चेतना का विकास किया था।

वहीं इस दौरान BSP कोऑर्डिनेटर आकाश ने अपनी बात रखते हुये कहा कि भारतीय समाज में जाति व्यवस्था में हुये अब नए बदलावों को समझने की जरूरत हम सबको है, जहाँ जातिवाद के कारण उत्पीड़न और दमन के शिकार लोंगो की मुक्ति और समतामूलक समाज की स्थापना के लिये युवाओं को बहुजन आंदोलन से जुड़ने की जरूरत है।

दूसरी ओर इस कार्यक्रम की अध्यक्षता BHU बहुजन इकाई के संरक्षक प्रोफसर महेश प्रसाद अहिरवार ने की, जहाँ उन्होंने बतलाया कि युवाओं को हिंसक और तोड़फोड़ के प्रक्रिया से दूर रहते हुये लोकतांत्रिक ढंग से बहुजन समाज पार्टी के बैनर तले अपने अधिकारों की लड़ाई लड़नी चाहिये और बहुजन आंदोलन को शक्ति प्रदान करनी चाहिये।

वहीं इस कार्यक्रम के स्वागत भाषण में रवींद्र प्रकाश भारतीय ने बोलते हुये कहा कि भारत की बदलती हुई सामाजिक आर्थिक दशाओं में आकाश आनंद ओजस्वी व प्रभावशाली नेतृत्व शोषित वंचित समाज के मुक्ति के सुदृढ़ और सृजनात्मक मार्ग प्रशस्त करेंगे। वहीं इनके नेतृत्व से युवाओं में असीम प्रेरणा का संचार हुआ है जो उनसे जुड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

इस विचार गोष्ठी के समापन के बाद बसपा के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद ने संत रविदास मंदिर में जाकर मत्था टेका और पूजा अर्चना की, साथ ही उनके मूल्यों को अपनाने की सीख ली। इसके साथ ही इस मंदिर के प्रबंधक एवं संत समाज द्वारा उन्हें सरोपा भेंट किया गया, साथ ही मंदिर प्रसाद देकर आशीर्वाद भी दिया गया।


Share & Enjoy !!